नमस्कार मित्रों, मेरा नाम आनंद पटैल है और आज हम ईमेल और जीमेल के बारे में बात करने वाले हैं कि ईमेल क्या है(what is email), जीमेल क्या है(what is gmail), ईमेल और जीमेल में क्या अंतर है (Difference Between Email And Gmail In Hindi), और वो सबकुछ जो आप जानना चाहते हैं।

हमने यह देखा है कि बहुत सी प्रतियोगी परीक्षाओं और जॉब इंटरव्यू में पूछा जाता है कि ईमेल और जीमेल में क्या अंतर है (Difference Between Email And Gmail In Hindi), ईमेल में CC और BCC क्या है, जीमेल में CC और BCC में क्या अंतर होता है और इसी तरह के अन्य प्रश्न पूछे जाते हैं।

और लोग उलझन में पड़ जाते हैं और इन प्रश्नों के उत्तर नहीं दे पाते, इसीलिए हमने इस प्रश्नों पर एक पूर्ण टुटोरिअल प्रदान करने का निश्चय किया, ताकि लोगों को इस प्रश्नों के उत्तर मिले और उनकी उलझन दूर हो जाए, तो इस पोस्ट को अंत तक पढ़िए और अंत तक आपके सभी डाउट ख़तम हो जाएंगे।

ईमेल क्या है(What Is Email In Hindi)

Email kya hai – ईमेल का पूरा नाम इलेक्ट्रॉनिक मेल होता है, ईमेल संचार का एक इलेक्ट्रॉनिक माध्यम है। जब हम किसी ईमेल सर्विस प्रोवाइडर के माध्यम से कंप्यूटर या किसी अन्य डिवाइस के द्वारा किसी को मेल(चिट्ठी/सन्देश) भेजते है तो इसे ईमेल कहा जाता है।

पहले के समय में हम अपने मित्रों/रिश्तेदारों या ऑफिस में काम करने वालों को चिट्ठी/पत्र/मेल किसी मेल/कोरियर सर्विस के माध्यम से भेजते थे। फिर समय बदला और 1971 में Ray Tomlinson ने अर्पानेट के एक प्रोग्राम के भाग के रूप में ईमेल को बनाया, और हमें एक नई तकनीक मिल गई।

https://hogatoga.in/

अब मेल ईमेल बन गया है और अब हम एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर पर ईमेल भेजते हैं।

जैसा कि पहले के समय में पत्र/मेल में हमें भेजने और पाने वाले दोनों का एड्रेस लिखना पड़ता था, उसी तरह ईमेल में भी हमें ईमेल भेजने या प्राप्त करने के लिए ईमेल एड्रेस की जरुरत होती है।

अगर आप किसी को ईमेल भेजना चाहते हैं तो आपके और जिसको आप ईमेल भेजना चाहते हैं दोनों के पास ईमेल एड्रेस(ईमेल ID) होना चाहिए।

क्या आप जानते हैं माइक्रोसॉफ्ट आउटलुक क्या है और यह एक साथ कई ईमेल अकाउंट को कैसे मैनेज करता है जानने के लिए लिंक पर क्लिक करके आप हमारा आउटलुक का पोस्ट पढ़ सकते हैं।

जीमेल क्या है(What Is Gmail In Hindi)

Gmail kya hai – जीमेल का पूरा नाम गूगल मेल है, जीमेल गूगल द्वारा उपलब्ध कराया गया एक प्रोडक्ट/सर्विस है जो इलेक्ट्रॉनिक मैलिंग सर्विस प्रदान करता है। गूगल ने 1 अप्रैल 2004 को जीमेल को ईमेल सर्विस प्रोवाइडर के रूप में प्रस्तुत किया था।

यदि आप जीमेल का उपयोग करना चाहते हैं और जीमेल के द्वारा ईमेल भेजना और प्राप्त करना चाहते हैं, तो पहले आपको जीमेल में अपना अकाउंट बनाना पड़ेगा, वहाँ आप अपना ईमेल ID भी बनाएंगे/प्राप्त करेंगे जो आपका ईमेल एड्रेस होगा।

और उसके बाद आप जीमेल के द्वारा ईमेल भेज या प्राप्त कर पाएंगे, तो यदि कोई कहता है कि उसके पास जीमेल ID है तो इसका मतलब उसके पास एक ईमेल ID/एड्रेस है जो उसने जीमेल पर अकाउंट बनाकर बनाई है।

यहाँ अब तक हम समझ चुके हैं कि ईमेल क्या है(what is email) और जीमेल क्या है(what is Gmail), आइये अब जानते हैं कि ईमेल और जीमेल में क्या अंतर है (What Is The Difference Between Email And Gmail In Hindi)

अगर आप जानना चाहते हैं कि जीमेल पर ईमेल ID कैसे बनते हैं और कैसे उपयोग करते हैं तो इस लिंक पर क्लिक करके आप वह पोस्ट पढ़ सकते हैं।

ईमेल और जीमेल में क्या अंतर है (Difference Between Email And Gmail In Hindi)

https://hogatoga.in/
क्रमांक तथ्य ईमेल जीमेल
1पूरा नाम ईमेल का पूरा नाम इलेक्ट्रॉनिक मेल है। जीमेल का पूरा नाम गूगल मेल है।
2अर्थ यह मेल/पत्र का इलेक्ट्रॉनिक रूप है। यह एक ईमेल सर्विस प्रदाता है।
3डेवलपर पहला ईमेल प्रोग्राम Ray Tomlinson द्वारा बनाया गया। जीमेल गूगल द्वारा प्रदान की जाने वाली ईमेल सर्विस है।
4प्रारम्भ 1971 में Ray Tomlinson इसे अर्पानेट के एक प्रोग्राम के भाग के रूप में बनाया था। गूगल ने जीमेल को 1st April 2004 को ईमेल सर्विस प्रोवाइडर के रूप में प्रारम्भ किया।
5उद्देश्य ईमेल को मेल सिस्टम को डिजिटलाइज करने और मेल को जल्दी भेजने और प्राप्त करने के लिए डेवलप किया गया। जीमेल सेवा को ईमेल कार्यक्रमों को सरल, सहज और सुविधाजनक बनाने के लिए डिज़ाइन किया गया था।
6उपयोग ईमेल भेजने और प्राप्त करने के लिए आपको एक ईमेल ID/एड्रेस/अकाउंट की जरुरत होगी, जो आप किसी भी ईमेल सर्विस प्रोवाइडर वेबसाइट जैसे – जीमेल,याहू, हॉटमेल पर बना सकते हो। जीमेल के द्वारा ईमेल भेजने और प्राप्त करने के लिए आपको जीमेल पर अपना जीमेल अकाउंट बनाना पड़ेगा।

क्या आप जानते हैं कि पॉडकास्ट क्या है और इसे कैसे बनाया जाता है और इससे क्या होता है जानने के लिए लिंक पर क्लिक करके आप हमारा वह पोस्ट पढ़ सकते हैं।

ईमेल में CC और BCC क्या है(What Is Email CC And BCC In Hindi)

अगर आप ईमेल भेजने और प्राप्त करने के लिए जीमेल जैसी किसी ईमेल सर्विस का उपयोग करते हैं तो ईमेल लिखते समय आपने ईमेल पाने वाले के पते(To) अर्थात प्राप्तकर्ता के ईमेल एड्रेस के ऑप्शन के नीचे CC और BCC के ऑप्शन देखे होंगे, तो ईमेल में CC और BCC क्या है(What Is Email CC And BCC)

https://hogatoga.in/

आइये इस प्रश्न का उत्तर जानते हैं =>

CC का और BCC का पूरा नाम क्रमानुसार कार्बन कॉपी और ब्लाइंड कार्बन कॉपी होता है। दोनों ही ऑप्शन का उपयोग ईमेल के मुख्य प्राप्तकर्ता के अलावा अन्य व्यक्तियों को ईमेल की कॉपी भेजने के लिए किया जाता है।

आइये इनके अर्थ को हम एक उदाहरण से समझते हैं =>

उदाहरण – अगर मैं राम को ईमेल के द्वारा किसी डॉक्यूमेंट को प्रिंट करने का आदेश भेजना चाहता हूँ , और सिर्फ उस आदेश की जानकारी देने के लिए उस ईमेल की एक कॉपी आनंद को भी भेजना चाहता हूँ और गुप्त रूप से उस ईमेल की एक कॉपी बॉस को भी भेजना चाहता हूँ

ताकि राम और आनंद को ये न पता रहे कि मैंने ईमेल की एक कॉपी बॉस को भी भेजी है तो इसके लिए =>

  • मैं राम को मुख्य प्राप्तकर्ता (To) सेक्शन में रखूँगा – क्युकि वह मुख्य प्राप्तकर्ता है और उसे आदेश का पालन करना है।
  • मैं आनंद को CC(कार्बन कॉपी) सेक्शन में रखूँगा – राम को पता रहेगा कि मैंने ईमेल की एक कॉपी आनंद को भी भेजी है और आनंद को पता रहेगा की मैंने ईमेल के द्वारा राम को आदेश भेजा है।
  • मैं बॉस को BCC(ब्लाइंड कार्बन कॉपी) सेक्शन में रखूँगा – इससे सिर्फ बॉस को पता होगा कि मैंने राम को डॉक्यूमेंट प्रिंट करने का आदेश भेजा है और आनंद को इस ईमेल की एक कॉपी भेजी है पर राम और आनंद को यह पता नहीं रहेगा कि ईमेल की एक कॉपी बॉस को भी भेजी गई है।

अब आप समझ गए होंगे कि ईमेल में CC और BCC क्या है(What Is Email CC And BCC) और इनका क्या उपयोग है। आइये अब जानते हैं कि जीमेल में CC और BCC में क्या अंतर होता है(What Is The Difference Between CC And BCC)

क्या आप जानते हैं कि कॉल फॉरवार्डिंग क्या है और इसके क्या फायदे हैं जानने के लिए लिंक पर क्लिक करके आप हमारा कॉल फॉरवार्डिंग का पोस्ट पढ़ कर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

जीमेल में CC और BCC में क्या अंतर होता है(What Is The Difference Between CC And BCC)

CC और BCC में मुख्य अंतर इनके भेजने के उद्देश्य का होता है जब हम किसी को ईमेल की कार्बन कॉपी भेजते है तो उस ईमेल के मुख्य प्राप्तकर्ता को पता होता है कि ईमेल की एक कॉपी गई है और CC प्राप्तकर्ता को पता होता है कि ईमेल का मुख्य प्राप्तकर्ता कौन है।

पर जब हम किसी को BCC सेक्शन में रखते हैं और ईमेल की ब्लाइंड कार्बन कॉपी भेजते हैं तो तो ईमेल के मुख्य प्राप्तकर्ता तो पता नहीं होता कि किसी और को भी ईमेल की कॉपी भेजी गई है परन्तु BCC प्राप्तकर्ता को पता होता है कि ईमेल मुख्य रूप से किसे भेजा गया है।

क्या आप जानते हैं कि एंड्राइड फ़ोन रुट करना क्या होता है और इसके क्या फायदे और नुकसान हैं जानने के लिए लिंक पर क्लिक करके आप हमारा पोस्ट पढ़कर इसकी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

पर्सनल और बिज़नेस जीमेल अकाउंट में क्या अंतर है (What Is The Difference Between A Personal And Business Gmail Account)

जब भी कोई जीमेल पर नया जीमेल अकाउंट बनाने जाता है तो उसे दो ऑप्शन मिलते हैं for my self(स्वयं के लिए) और to manage my business(व्यवसाय के लिए)

इसका अर्थ होता है कि यदि आप ईमेल अकाउंट का उपयोग अपने पर्सनल यूज़ के लिए करना चाहते हैं तो for my self(स्वयं के लिए) सेलेक्ट कीजिये और यदि आप जीमेल अकाउंट का उपयोग अपने व्यवसाय लिए(ईमेल भेजने/प्राप्त करने या मैनेज करने) करना चाहते हैं तो to manage my business(व्यवसाय के लिए) सेलेक्ट कीजिये।

https://hogatoga.in/

दोनों ही तरह के ईमेल अकाउंट में आपको ईमेल भेजने/प्राप्त करने, मैनेज करने के लिए एक ही तरह का इंटरफ़ेस और एक ही तरह के ऑप्शन मिलते हैं।

पर पर्सनल और बिज़नेस जीमेल अकाउंट में मुख्य अंतर फीचर और अन्य एप्स की अक्सेससबिलिटी(पहुँच) का होता है, पर्सनल/रेगुलर जीमेल अकाउंट से आप किसी भी अन्य एप जैसे ब्लॉगर, यूट्यूब, ऑरकुट और अन्य को एक्सेस कर सकते हैं।

परन्तु बिज़नेस अकाउंट में आपको सिर्फ बिज़नेस को मैनेज करने और उससे सम्बंधित एप्स का एक्सेस मिलता है जैसे – जीमेल, कैलेंडर, डॉक्स, साइट्स, आदि।

तो यदि आप जीमेल अकाउंट का उपयोग बिज़नेस को मैनेज करने के लिए करना चाहते हैं तो to manage my business(व्यवसाय के लिए) को सेलेक्ट कीजिये और अकाउंट क्रिएट कीजिये और यदि आप अपने पर्सनल उपयोग के लिए जीमेल अकाउंट बनाना चाहते हैं तो for my self(स्वयं के लिए) सेलेक्ट कीजिये।

निष्कर्ष

यहाँ हमने सीखा कि ईमेल क्या है(what is email), जीमेल क्या है(what is Gmail), ईमेल और जीमेल में क्या अंतर है (Difference Between Email And Gmail In Hindi), जीमेल में CC और BCC में क्या अंतर होता है और जीमेल व ईमेल से जुड़े अन्य विषयों के बारे में जाना।

आशा करते हैं कि आप सब समझ गए होंगे और आपके सभी संदेह ख़तम हो गए होंगे, अगर आपको हमारा यह प्रयास अच्छा लगा हो तो हमें कमेंट करके जरूर बताये और इसी तरह की टेक्नोलॉजी और ब्लॉगिंग से जुडी अन्य जानकारियों के लिए हमारे अन्य पोस्ट भी पढ़ें।

इन्हे भी पढ़ें

अगर आप जानना चाहते हैं कि ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है और इसका क्या महत्व है तो लिंक पर क्लिक करके आप हमारी ऑपरेटिंग सिस्टम की कम्पलीट हिंदी गाइड पढ़ सकते हैं।

अगर आप कंप्यूटर वायरस और उनके प्रकार के बारे में और उनसे बचने के उपाय जानना चाहते हैं तो लिंक पर क्लिक करके हमारा वह पोस्ट पढ़ सकते हैं।

अगर आप इंटरनेट पर होने वाले फ्रॉड धोकेबाजी से बचना चाहते हैं तो आपको phishing क्या है और फिशिंग अटैक से कैसे बचें पता होना चाहिए और आप इसके लिए हमारा पोस्ट पढ़कर अपने आप को इंटरनेट जालसाजी से बचा सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here